शॉर्ट फिल्म लिखने का आसान तरीका और फॉर्मेट

Share:

शॉर्ट फिल्म लिखने का आसान तरीका और फॉर्मेट

एक स्टोरी लाइन लिखने से पहले सोचा जाता है| हमें पहले विचार करनी चाहिए स्टोरी लाइन का  कितने किरदार है जो लिखने का तरीका अगर हमारा स्टोरी ढंग से लिखा जाए और सिनेमैटिक Style में लिखा जाए तो हमें सूट करने में बड़ा ही आसान होता है| 

जिसके कारण हम एक पेज को दो भाग में बांटते हैं पेज  के पहले भाग में कहानी का एक्शन होता है और पेज के दूसरे भाग में डायलॉग होते हैं और सबसे ऊपर फिल्म का नाम होता है फिल्म के नाम के ठीक नीचे फिल्म का लोकेशन होता है फिल्म के नाम के  दाए तरफ  में कितने किरदार है उनकी संख्या लिखी होती है ठीक उसी के नीचे एक्शन लिखा होता है और दूसरी तरफ डायलॉग लिखी होती है इसके अगले सब्जेक्ट में हम पड़ेंगे के सीन क्या होता है |

 एक सीन को कई शॉट में भाग किया जाता है| इसलिये हम सीन एक तरफ और डायलॉग दूसरी तरफ लिखते हैं मैं आपको एक इमेज दे रहा हूं जिसमें मैंने एक शॉर्ट फिल्म को लिखा है इस फॉर्मेट को देखकर आप सब कुछ समझ जाएँगे कि किस तरीके से एक फिल्म को लिखना है | फिल्म के सीन को कई शोर्ट में बांटा जाता है और उन सॉर्ट को सिनेमैटिक लुक देने के लिए विभाजित किया जाता है 

ताकि सेट पर हम सही तरीके से शूट कर सकें दोस्तों इसके अगले आर्टिकल्स में हम पढ़ेंगे सीन क्या होता है और शार्ट क्या होता है| दोस्तों भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरीके से फिल्म  फॉर्मेट लिखी जाती है लेकिन आज जो मैं आपको तरीका बता रहा हूं यह दक्षिण भारत में ज्यादातर डायरेक्टर इसी फॉर्मेट का इस्तेमाल करते हैं और यह साधारण भी  है जिसे हम लोग बहुत साधारण तरीके से स्क्रिप्ट को लिख सकते हैं पढ़ भी सकते हैं|

 और शूटिंग करने में हमें बड़ी ही आसानी होती है दक्षिण भारत के कई बड़े डायरेक्टर इसी फॉर्मेट में लिखते हैं स्क्रिप्ट लिखने के कई Software भी मिलते हैं जिनमें से मशहूर celtx  के माध्यम से हम जब लिखते जाते हैं 

कहानी , डायलॉग और शॉट अपनी अपनी जगह चले जाते हैं | जिससे हमें हर चीज आसान हो जाती है मैं एक स्क्रिप्ट आपको इस पेज में दिखा रहा हूं जिसे देखकर आप बड़ा ही आसानी से लिख पाएँगे| |

No comments